Ultimate magazine theme for WordPress.
cin bigyapan

आई एस आई सिमा पार नेपाल में कर रहे है युवा को तैयार

0 1,400
Bara Gadhi Notice winter

अंतरराष्ट्रीय डेस्क, इंटरनेशनल प्रेस क्लब //  गुप्तचर संस्था ईन्टर सर्विस इन्टिलिजेन्ट (आईएसआई) के द्वारा नेपाल–भारत सिमावर्ती क्षेत्र में संगठन लश्कर–ए–तोएबा के तर्ज पर संगठन बनाने की बात नेपाल सुरक्षा स्रोतों से जानकारी मिलने बात बताई जा रही है । स्रोत के जानकारों की माने तो जम्मु–काश्मीर में आतंकी असफल होने के बाद नेपाल से भारत विरोधी गतिविधी को हवा देने की बात सामने आ रही है ।स्रोत से मिली जानकारी

के अनुसार आईएसआई नेपाल में लश्कर के स्लीपर सेल कमाण्डर उमर समस उर्फ उमर मदनी को इस काम की जिमेवारी दिए जाने की खबर है । बताया जा रहा है कि उमर वर्तमान मे नेपाल–भारत सीमा के तराई क्षेत्र में युवा को प्रशिक्षण देने की बात सुरक्षा से जुड़े स्रोत ने दी है ।आतंक गतिविधी के लिए उमर के द्वारा युवा को मानसिक रुपमें तैयार करने का काम करने का दावा स्रोत का है । नेपाल एजुकेशनल एण्ड वेलफेयर सोसाईटी नामक संस्था के माध्यम से नेपाल के रास्ते घुसपैठ कराने व अन्य गतिविधी का पालन–पोषण करने के लिए खुफिया एजेन्सी लगातार काम करने की बात बताई जा रही है ।

तोयबा के मदनी के द्वारा नेपाल के मोरंग जिले से ऐसा कार्य करने की बात स्बता रही है कि मौलाना मदनी के द्वारा अपने एनजीओ के मार्फत विदेशी से सहायता (फण्ड) का मांग किया जा रहा है । प्राप्त सहायता राशि का दुरुपयोग कर मौलाना मदनी के द्वारा सिमावर्ती क्षेत्र के युवा को लश्कर में शामिल होने के लिए प्रेरित करने की खबर है। आतंकवाद को संरक्षण दे रहे पाकिस्तान के लिए भारत नेपाल के खुली सीमा 1751 किलोमिटर का खुला सिमा काफी आसान है ।

प्रसौनी गापा सामाजिक संदेश ०७८
Karaiya Mai Notice Winter

कब कब हुई आतंकी की गिरफ्तारी:-
1991 में सुनौली बॉर्डर में पंजाबी उग्रवादी सुखविन्दर सिंह की गिरफ्तारी हुई थी वही सिद्धार्थनगर के बढनी स्थित भारत नेपाल सीमा से अजमेर शिंह उर्फ भागसिंह नामक उग्रवादी की गिरफ्तारी हुई थी।

1993 में मुम्बई हमला के आरोपी टाईगर मेमन को भी भारत नेपाल सीमा के सुनौली बोर्डर से गिरफ्तार किया गया था वही नेपाल से भारत विरोधी गतिविधी संचालन कर रहे पाकिस्तानी आतंकवादी जब्बार को भी एसटीएफ ने लखनउ से गिरफ्तार किया था । जब्बार नेपाल सीमा के रास्ते ही भारत जा कर सुरक्षा अधिकारी का हत्या किया था । बब्बर खालसा के खतरनाक उग्रवादी मक्कन सिंह भी बढनी (सिद्धार्थनगर) से गिरफ्तार किया गया था ।

भारत के द्वारा खतरनाक आतंकी के सूची में सुमार अब्दुल करीम टुन्डा को भी नेपाल के सीमा से दिल्ली पुलिस के द्वारा गिरफ्तार किया गया था । इंडियन मुजाहिद्दिन के खूंखार आतंकवादी यासिन भटकल को भी नेपाल के सीमा से गिरफ्तार किया गया था 2016 में डा. जावेद नाम के एक संदिग्ध पाकिस्तानी नागरिक को भी नेपाल सीमा से ही गिरफ्तार किया गया था ।
17 मई 2017 को हिजबुल के आतंकवादी नासीर अहमद वानी को भी नेपाल बॉर्डर से सुरक्षा अधिकारी ने गिरफ्तार किया था।

स्रोत की माने तो भारत बिरोधी गतिविधियों के लिये पाकिस्तानी सेना के द्वारा नेपाल के राजधानी काठमांडु में नेशनल डिफेंन्स काॅलेज निर्माण करने की खबर है । इसके लिए चीन को माध्यम बना कर पाकिस्तान के द्वारा नेपाल से निकट सम्बन्ध बना कर भारतीय प्रभाव कम करने का कार्य किया जा रहा है । साथ उक्त गिरफ्तार से यह इनका नहीं किया जा सकता कि आतंकी संगठन नेपाल की माध्यम बन रही है ।

Kalaiya Notic summer
Leave A Reply

Your email address will not be published.