Ultimate magazine theme for WordPress.

नीतीश सरकार का हाल , अस्पताल में दलित महिला के साथ अमानवीय व्यवहार , पैसा नहीं देने पर जबरन अस्पताल से निकाला !

देवताल गाउपालिका सामाजिक शंदेश
0 871
cin bigyapan
प्रसौनी गापा सामाजिक संदेश ०७८
cin bigyapan

फॉरबिसगंज, बरिष्ठ संवाददाता
फारबिसगंज अनुमंडलीय अस्पताल में प्रसव को आई दलित वर्ग की महिला को दो घंटे से ब्लीडिंग पर पैसे के अभाव में इलाज को छटपटाती रही महिला । परिजनों ने ऑन ड्यूटी कर्मी व विचौलियों पर लगाया सांठगांठ का आरोप खून की कमी बता पांच हजार की मांग, तैश में आई कर्मी । मरीज ने रास्ते में जना बच्चा पर नवजात की मौत !
फारबिसगंज अनुमंडलीय अस्पताल में प्रसव कराने सोमवार को आई दलित वर्ग की महिला कंचन देवी पति अखिलेश ऋषिदेव, उम्र-30 वर्ष निवासी सोनारपट्टा, मिर्जापुर वार्ड 03,थाना-सिमराहा,प्रखंड-फारबिसगंज जिला अररिया को बताया गया कि मरीज को खून की कमी है ।
पीड़ित के परिजनों ने बताया कि इला नामक अस्पताल कर्मी ने पांच हजार खर्च की बात कही । असमर्थता बताने पर मरीज को प्रसव रूम से जबरन निकाल दिया । पति जब मरीज को अररिया ले जाने लगा तो रास्ते हीं फुलवरिया हाट के समीप माता ने बच्चा जना पर बच्चा मृत था । मानवता का यह घिनौना कृत्य के विरुद्ध पीड़ित दलित महिला व परिजन ने मंगलवार को अस्पताल में बबाल काटा । वीडियो से सारी स्थिति खुद ब खुद स्पष्ट होने के बाबजूद अस्पताल प्रशासन की चुप्पी फारबिसगंज अनुमंडलीय अस्पताल की व्यवस्था की हकीकत को बयां करने के लिये काफी है ।
सुशासन बाबू के सरकार में दलित महिला के साथ फारबिसगंज अस्पताल की यह कोई अकेली घटना नहीं है । इस अस्पताल पर बिचौलियों का कब्जा ऐसा की पदस्थापित चिकित्सक भी अगर विचौलियों के अनुरूप नहीं चले तो कोई न कोई मामला बना पिटाई तय ।

फेटा गापा सामाजिक संदेश ०७८
cin bigyapan